कसरावद के गेहूं से फार्चुन बनाती है आटा, मैदा व रवा

Publish Date : 07 / 11 / 2020

खरगोन
कलेक्टर श्रीमती अनुग्रहा पी ने शनिवार को निमरानी स्थित अनुदान प्राप्त व गैर अनुदान प्राप्त कंपनियों का निरीक्षण कर वहां की प्रबंधन नीति और उनके उत्पाद के बारे में जानकारी ली। निरीक्षण के दौरान उन्होंने केंद्रीय सरकार से प्राप्त अनुदान पर स्थापित इंडस मेगा फूडपार्क, श्री वरद पॉलीफेन प्रालि और गैर अनुदान प्राप्त फार्चुन कंपनी व मॅराल ओवरसीस कंपनी का जायजा लिया। इंडस मेगा फूडपार्क के संचालक नवीन वर्मा ने इकाई का निरीक्षण करवाते हुए यहां उत्पादित ग्रीन पीक और स्वीट कॉर्न की प्रक्रिया विधि व पैकेजिंग की जानकारी दी। संचालक श्री वर्मा ने बताया कि स्वीट कॉर्न के लिए मक्का बड़वानी जिले के अंजड़, तलवाड़ा, सालखेड़ा, खरगोन के बड़वाह, सनावद, महेश्वर और धार के धामनोद व धरमपुरी के किसानों से खरीदा जाता है। वहीं मटर रतलाम के किसानों से खरीदकर यहां प्रोसेस किया जाता है। श्री वर्मा ने बताया कि हमारी यूनिट में 6 हजार टन मक्का और 5 हजार टन मटर की जरूरत होती है। मेगा फूडपार्क के संचालक श्री वर्मा ने जानकारी देते हुए बताया कि यह स्थान कोस्टल एरिया सहित साउथ में भी उत्पादन सप्लाय करने में मदद करता है। महाराष्ट्र जैसे राज्यों के करीब होने और पर्याप्त जल, पानी व बिजली होने से सुविधा होती है। इस दौरान कसरावद एसडीएम संघप्रिय, व्यापार एवं उद्योग के महाप्रबंधक एसएस मंडलोई, उद्यानिकी उप संचालक केके गिरवाल, एसडीओ पर्वत बड़ोले, तहसीलदार केश्या सोलंकी, नायब तहसीलदार राहुल सोलंकी व नरेंद्र मुवेल उपस्थित रहे।
3 लाख प्रतिवर्ष आटा, मैदा
व रवे का उत्पादन
निमरानी स्थित फार्चुन कंपनी के निरीक्षण के दौरान जनरल मैनेजर अमितचंद्र सचान ने कंपनी का अवलोकन कराते हुए तकनीकी जानकारी उपलब्ध कराई। कंपनी का अवलोकन कराने के बाद जनरल मैनेजर श्री सचान ने बताया कि कसरावद मंडी से गेहूं लिया जाता है। इसके अलावा सीहौर और सुजालपुर जिले से भी उसी क्वालिटी का गेहूं आटा, मैदा व रवा बनाने के लिए खरीदा जाता है। यहां प्रतिवर्ष 3 लाख टन मैदा, आटा व रवा उत्पादित होता है। यहां से देश के विभिन्न हिस्सों में मांग अनुसार सप्लाय करने में आसानी होती है। क्योंकि सड़क मार्ग, रेलमार्ग व वायुमार्ग के साथ-साथ जलमार्ग तक पहुंचाने में सुविधा होने से कंपनी को सुविधा होती है। कलेक्टर श्रीमती अनुग्रहा ने फार्चुन कंपनी के गार्डन में पौधारोपण भी किया।
कोरोना से बचाव के पूरे उपाय
कलेक्टर श्रीमती अनुग्रहा ने मॅराल ओवरसीस कंपनी के निरीक्षण के दौरान सभी तरह के वर्करों को मास्कयुक्त और पूरी तरह सेनिटाईज प्रक्रिया का पालन करते हुए सराहना की। कंपनी के अध्यक्ष एसएन गोयल और सीनियर जनरल मैनेजर राजकुमार गीते ने कंपनी की उत्पादता और प्रोडक्शन यूनिट द्वारा किए जा रहे निर्माण कार्यों की तकनीकी जानकारी दी। इसके पश्चात अनुदान प्राप्त श्री वरद पॉलिफेन प्रालि कंपनी का अवलोकन भी किया। इस दौरान संचालक प्रवीण जी गुप्ता ने पॉलिफेन कंपनी द्वारा बनाई जाने वाली पॉलिथिन के बारे में तकनीकी जानकारी प्रदान की।

Like & Share

Epaper

Epaper

लाइव पोल

2019 में कौन होंगे प्रधानमंत्री?

नरेन्द्र मोदी
राहुल गांधी
अर्विन्द केजरिवाल